जिंदगी एक पहेली हैं

जिंदगी एक पहेली हैं,
जिसे सब ने ही झेली है,

ना है इसका कोई रूप रंग
ना ही कही ये फैली हैं,

यूँ तो है, बहुत ये उलझी हुई
पर सभी ने खेली है,
जिंदगी एक पहेली है।
जिसे सब ने ही झेली है,

नाकाम कोशिशें बहुतायत है यहाँ
ना कर व्यर्थ का पर्यतन्न ,
तू इसे सुलझाने का

गर ठान ही लिया है साथी मेरे,
ज़रा भेद हमको भी बतलाना
इस से पार पाने का।

जो कर जाओ पार इसे तो ऐ मुसाफिर,
जिंदगी सच्ची वही है, जीते हुए जाने का

ना कर मोह, ना रख उम्मीदे सबसे,
जिंदगी जीने का नाम है न की जरिया
गम फ़ैलाने का।।

@aaditsays